भारत में सामाजिक कार्य करने वाले बॉलीवुड सितारे | Charity By Bollywood Stars

भारत में सामाजिक कार्य करने वाले बॉलीवुड सितारे | Charity By Bollywood Stars

बॉलीवुड सितारों की लोकप्रियता देश में चरम सीमा पर है. उन्हें अपने प्रशंसकों से उनकी फिल्मों के लिए प्यार, स्नेह और सम्मान मिलता है और कुछ सितारों को भी देवताओं जैसा सम्मान दिया जाता है. लेकिन कभी कभी अभिनेता/अभिनेत्री अपने प्रशंसकों को वैसा मनोरंजन नहीं दे पाते जिसकी वे कामना करते है. पर वे समाज के लिए कई अच्छे काम करते है जिससे उन्हें नापसंद करने वाले भी उनके दीवाने बन जाते है. बॉलीवुड सितारे लोगों और मीडिया की नज़र में आये बिना ही समाज के लिए कई दान पुन्य करते है. निचे कुछ ऐसे ही बॉलीवुड सितारों के नाम है जो देश के लिए कई चैरिटी कार्यक्रम में हिस्सा लेते है.

अक्षय कुमार

एक बेहतरीन कलाकार होने के साथ ही अक्षय कुमार एक बढ़िया मार्शल आर्टिस्ट भी है. अक्षय कुमार ने अपने मार्शल आर्टिस्ट बनने के बाद मार्शल आर्ट्स की क्लासेज भी खोली है. उन क्लासेज में केवल महिलायें ही आपेक्षित है. अक्षय कुमार चाहते है कि महिलायें भी पुरुष के जैसे ही अपनी रक्षा खुद ही कर सकें. अक्षय कुमार ने उन लोगों की मदद भी की जिनके परिवार के किसान ने मराठवाडा, महाराष्ट्र में हुए सूखे के कारण आत्महत्या कर ली थी. उन लोगों के बीच अक्षय कुमार ने 90 लाख रुपये का दान किया था.

राहुल बोस

मशहूर और प्रतिभावान अभिनेता राहुल बोस एक सामाजिक कार्यकर्ता है. 2004 को बॉक्सिंग डे पर अंडमान और निकोबार में आये सुनामी में राहुल राहत कार्यों मे शामिल थे. राहुल ने अंडमान और निकोबार के अशिक्षित छात्रों के लिए अपनी गैर सरकारी संस्था से स्कालरशिप की पहल शुरू की थी.

सिद्धार्थ सूर्यनारायण

रंग दे बसंती स्टार, सिद्धार्थ सूर्यनारायण ने चेन्नई बाढ़ से पीड़ितों की मदद के लिए बहुत सारे सामाजिक कल्याण कार्य किए हैं. उन्होंने आरजे बालाजी के साथ मिलकर कार्यकर्ताओं की टीम बनाई और लोगों तक मदद पहुंचाई.

इसे भी पढ़ें: फिल्में जिनकी कहानियां किताबों पर आधारित थी

महेश बाबु

फिल्म श्रीमंथुडु में तेलेगु सुपरस्टार महेश ने एक बिज़नसमैन का किरदार निभाया था. फिल्म में महेश बाबु ने एक गाँव को गोद लेकर उसके पालन पोषण की ज़िम्मेदारी भी ली थी. अपने किरदार के मुताबिक ही महेश बाबु ने असल ज़िन्दगी में भी एक गाँव को गोद लिया है. उन्होंने अपने पिता के जन्म स्थान को गोद लिया हुआ है.

दिया मिर्ज़ा

एचआईवी-एड्स, महिला भ्रूणहत्या की रोकथाम और एनडीटीवी ग्रीनाथॉन के बारे में जागरूकता बढ़ाने में मदद के लिए सुंदर अभिनेत्री आंध्र प्रदेश सरकार के साथ सक्रिय रूप से शामिल है. वह कैंसर मरीज सहायता संघ और भारत की स्पास्टिक्स सोसाइटी के काम में भी अपना योगदान देती है. दिया को स्वच्छ भारत अभियान का प्रचार करने के कारण राजदूत का नाम दिया गया है. दिया मिर्ज़ा ने देश को साफ़ रखने के लिए किये गए प्रयासों के लिए जाना जाता है.

शबाना आज़मी

बहुत लम्बे समय से शबाना आज़मी एड्स के कलंक और अन्याय के खिलाफ समाज के लिए लड़ाई लडती आई है. उन्होंने बच्चों और महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ी और कल्याण कार्य भी किये. शबाना अपने पिता द्वारा स्थापित एनजीओ मिजवान वेलफेयर सोसाइटी से जुडी हुई है. इसके अलावा भी वे कई संस्थान चलती है. उन्होंने लड़कियों के लिए कैफी आज़मी हाई स्कूल, लड़कियों के लिए कैफी आज़मी इंटर कॉलेज, कैफी आज़मी कंप्यूटर ट्रेनिंग सेंटर और कैफी आज़मी सिलाई और टेलरिंग केंद्र भी स्थापित किये है.

नाना पाटेकर

सबसे टैलेंटेड बॉलीवुड अभिनेता नाना पाटेकर ने खुद को साबित कर दिया है कि वह किसी भी रील लाइफ हीरो की तुलना में कहीं अधिक वास्तविक है. वे अपनी 95 प्रतिशत कमाई किसानों के कल्याण के लिए दान कर देते है. नाना कई सालों से दान पुण्य करते है पर किसी भी काम को वे लाइमलाइट में आने के लिए नहीं करते है. वे अपने एनजीओ के माध्यम से किसान की आर्थिक रूप से मदद करते है.

सलमान खान

बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान चैरिटी करने के लिए सबसे आगे रहते है. किसी भी चीज़ से वंचित बच्चों के लिए सलमान ने बीइंग ह्यूमन नाम का एनजीओ शुरू किया है. बीइंग ह्यूमन चैरिटी के साथ-साथ प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग भी करता है. बीइंग ह्यूमन के प्रोडक्ट को बेच कर जो पैसा एकत्रित होता है वो पूरी तरह से चैरिटी के लिए ही जाता है. बेंग ह्यूमन हार्ट के मरीजों के लिए खास तौर पर काम करता है. सलमान ने महाराष्ट्र के किसानों के लिए पैसे, कश्मीर के बाढ़ पीड़ितों के लिए कम्बल दान किये थे.

आमिर खान

बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट ने “सत्यमेव जयते” की मेजबानी की, जिसने हमारे देश में विभिन्न सामाजिक मुद्दों को सामने ला कर रखा था. और समाज को कई रहस्यों से अवगत कराया. इसके अलावा आमिर ने नर्मदा बचाओ आन्दोलन, जन लोकपाल बिल, और समलैंगिकता पर सुप्रीमकोर्ट के फैसलों का समर्थन और विरोध लोगों की भलाई देख कर किया.

शाहरुख़ खान

शाहरुख़ खान ने नानावती हॉस्पिटल, मुंबई में कैंसर के मरीज़ और बच्चों के लिए अलग से वार्ड बनवाया है. जहाँ मरीजों के पैसे नहीं लगते है. शाहरुख़ खान ने यह वार्ड अपनी माँ की याद में बनवाया था जो कि कैंसर की वजह से ही मरी थी. शाहरुख़ खान ने कैंसर मरीजों के लिए 15 करोड़ की आईपीएल 7 की पूरी राशी दान की थी. 2012 में शाहरुख़ खान ने 12 गाँवों को गोद लिया था जिन्हें वे अभी तक पाल रहे है.

इसे भी पढ़ें: Top 15 Best Bollywood Couple Songs For Anniversary Celebration

Leave a Comment